स्पा


10

बड़े शहरों में एक थैरेपी बहुत प्रचलित हो रही है वह है स्पा थैरेपी। स्पा आपकी त्वचा  को खूबसूरती प्रदान करने के साथ-साथ दिमाग को भी शान्त करता है। सच तो यह है कि यह शरीर को खूबसूरती देने और आत्मिक शान्ति देने से बढ़कर बहुत कुछ .ज्यादा है। आपके शरीर को ताज़गी व आराम देने के लिए बेहद खूबसूरत माहौल तैयार किया जाता है। वहां प्रवेश करते ही अापकाे बेहद सुकून मिलेगा भीतर तक शान्ति का अहसास होगा। वहां मद्घम-मद्घम सी रोशनी का प्रबन्ध होता है ताकि तेज़ रोशनी में आप थकान महसूस न करें। मधुर सा संगीत जो आपके कानों में एक सुरमयी सा अहसास छोड़ दे। वहां की सजावट भी आपके आनंद काे ही मद्देनजर रख कर की गई होती है। पूरे कमरे की सजावट ताज़ा फूलों से की जाती है जोकि देखने में तो सुन्दर लगती ही है और साथ ही साथ फूलों की भीनी-भीनी खुशबू आपको आत्मीय शान्ति व ता़जगी देती है। इनका मुख्य उद्देश्य ही तनावग्रस्त और थके हुए शरीर और दिमाग को ताज़गी और स्फूर्ति देना होता है

अगर आप शादी जैसे किसी बड़े मौक़े या उत्सव के लिए स्पा जाना चाहते हो तो यह एक उचित निर्णय होगा क्योंकि इस मौक़े पर जाने से पहले आप शादी की तैयारियों व10c भाग दौड़ से हुई थकावट को दूर कर जो आराम व ताज़गी चाहते हैं वो स्पा के अतिरिक्त अन्यत्र कहीं और नहीं मिलेगा। ये थकावट को दूर कर आपको आराम की अनुभूति तो करायेंगे ही साथ ही साथ उनकी ब्यूटी ट्रीटमेंटस से आपको वो निखार व खूबसूरती भी मिलेगी जो आप चाहती हैं। एक दिन स्पा सैलून पर बिताने से आप निस्संदेह अपने पर स्वास्थ्य और सौन्दर्य ट्रीटमेंट्स को करवाकर एक अद्भुत सा अनुभव प्राप्त करेंगे। एक दिन की यात्रा के दौरान सबसे पहले तो स्पा सैलून का स्टाफ़ आपका स्वागत करेगा। उसके बाद आपको यह स्पष्ट करना होगा कि आप उनसे क्या अपेक्षा रखते हैं। आपके स्पा सैलून पर होने पर उनकी कोशिश यही होगी कि आप अच्छा महसूस करें।

स्पा थैरेपी में विभिन्न प्रकार के फेशियल मैनीक्योर, पैडीक्योर और मसाज आते हैं जिनसे जहां आपकी त्वचा को एक नयापन मिलता है वहीं एक अलग सा निखार भी आता है। फेशियल करने का मुख्य उद्देश्य सूखी बेजान त्वचा को सुधारना और रक्त संचार को ठीक रखना होता है। इन सबके बाद आप अपनी त्वचा में एक अलग सा कसाव व निखार स्वयं अनुभव करेंगे क्योंकि इन फेशियल के लिए प्रयोग होने वाले सारे उत्पाद आपकी त्वचा को मद्देनजर रखते हुए प्रयोग किए जाते हैं जिनका मनोरथ आपकी त्वचा को गहराई से साफ कर ताज़गी प्रदान करना होता है। मैनीक्योर व पैडीक्योर जहां आपके हाथ-पैर सुन्दर बनायेंगे वहीं उनको कोमलता भी प्रदान करेंगे। इसी प्रकार मसाज भी शरीर के लिए बेहद लाभदायक सिद्घ होती है। इनसे एक ओर तो पूरे शरीर का रक्त संचार नियमित रहता है दूसरा यह मांसपेशियों के खिंचाव को भी दूर करती है। मसाज चाहे पूरे शरीर की हो या किसी एक अंग की आप अपने शरीर में एक खुलापन और स्फूर्ति अनुभव करेंगे।

आयुर्वैदिक चिकित्सा और योग भी स्पा थैरेपी के अन्तर्गत आते हैं। भारत का दक्षिणी राज्य केरला जिसे भगवान् राज्य माना जाता है स्पा थैरेपी के लिए सबसे आगे है। उनकी स्पा थैरेपी में आयुर्वैदिक चिकित्सा का भी एक विशेष स्थान है। इसके अन्तर्गत प्रत्येक ट्रीटमेंट का अपना ही लाभ है। यह शरीर में रक्त संचार में सुधार कर शरीर के जोड़ों को ठीक रखने में भी काफ़ी सहायता करती है। सुन्दरता के साथ-साथ शारीरिक विकृतियों को दूर करने के लिए योग का आश्रय लिया जाता है। योग का प्रमुख कार्य शारीरिक, मानसिक, आत्मिक व भावनात्मक भावनाओं को बढ़ावा देना होता है। इसके लिए भी एक विशेष स्थान तथा माहौल का प्रबन्ध होता है। मार्बल का साफ़ फ़र्श जिसकी छत पत्तों की होती है, पास में एक शांत-सा पानी का तालाब होता है, चारों ओर पेड़ ही पेड़ होते हैं ऐसे स्थान को योग के लिए उत्तम माना जाता है। योग का प्रयोग जब शरीर पर किया जाता है तो इसका प्रभाव आप स्वयं व अपने भीतर से अनुभव कर सकते हैं। समय के साथ और एक अच्छे प्रशिक्षक के निरीक्षण के अन्तर्गत योग का प्रयोग जीवन भर की स्थिरता और अच्छे स्वास्थ्य के लिए कुशलतापूर्वक किया जा सकता है। योग हमारे दिमाग़ को स्थिर रखने में अपने गुस्से पर नियंत्रण रखने में मानसिक दबाव और उच्च रक्त चाप को स्थिर रखने में काफ़ी सहायक सिद्घ होता है।

आज बहुत से होटल और रिज़ॉर्ट हैं जहां स्पा के सैलून हैं। स्थान का चयन तो आपको खुद ही करना है। किसी भी स्थान पर जाने से पहले आपको वहां की पूरी जानकारी होनी चाहिए। अगर नहीं है तो किसी परिचित से इस बारे में परामर्श ले लें जोकि वहां जा चुका हो।

स्पा जाते समय आपको कुछ बातों का भी ध्यान रखना चाहिए जैसे खाना थैरेपी से दो-तीन घण्टे पहले ही खा लें।क्योंकि मसाज के दौरान खून का दौरा बढ़ जाता है और इसके दौरान जब शरीर के विभिन्न अंगों पर दबाव डाला जाता है तो मसाज का कुछ ख़ास असर नहीं होता।इसलिए भोजन और मसाज के दाैरान अन्तराल का होना अावश्यक है। मसाज के वक्त थैरेपिस्ट से कम बातें करें। म्यूज़िक की आवाज़ और कमरे का तापमान अगर आपको आराम नहीं दे रहा तो उसे बदला दें। मसाज के वक्त ज़रूरी नहीं कि आप पूरी अन्ड्रेस हो। आप अन्डर गारमेंट्स डालकर टॉवल लपेटकर भी मसाज का आनन्द ले सकती हैं। अगर आपको कोई बीमारी है या किसी अंग में तकलीफ़ है तो इसके बारे में पहले ही अपने थैरेपिस्ट को बता दें।

स्पा सैलून्ज़ के बारे में विशवसनीय सूत्रों से जानकारी एकत्रित कर आपको उपलब्ध करवाने का हमारा एक प्रयत्न है। बेहद विस्तृत थैरेपी जोकि पूरे संसार में फैली हुई है, सैकड़ों नहीं बल्कि हज़ारों-हज़ारों की तादाद में सैलून्ज़ में विभिन्न प्रकार के ट्रीटमेंट किए जाते हैं। ये सब इतना विस्तृत है कि शब्दों में पिरोया जाना बहुत मुश्किल है, इसलिए बहुत कुछ उपलब्ध कराने के बाद भी हम बहुत कम उपलब्ध करा पाए हैं । लेकिन हमारा दावा है कि स्पा के बारे में संपूर्ण अहसास आपको दिला सकेंगे ।

नि:संदेह स्पा थैरेपी शरीर और दिमाग़ को तंदरुस्त रखने का उत्तम ढंग है जिसका प्रभाव आप स्वयं अपने अंदर से महसूस करेंगी।

Types of spa

बेहद विशेष प्रकार की स्पा की किस्माें की जानकारी निम्नलिखित है।

1. Club spa का प्रमुख उद्देश्य फिटनेस है जो कि हर दिन के हिसाब से व्यावसायिक तौर पर नियंत्रित अलग-अलग प्रकार की स्पा सेवाएं उपलब्ध कराए जाने की सुविधा के रूप में मानी जाती है।

2. Cruise ship spa समुंद्री यात्रा के दौरान आपको संपूर्ण व्यावसायिक स्पा की सुविधाएं उपलब्ध करवाता है जोकि स्वास्थ्य व अरोग्यता आदि तत्त्वों पर आधारित है। स्पा की सभी सुविधाओं के साथ-साथ विशेष तौर पर समुंद्री जहा़ज़ पर उपलब्ध होता है। आपकी पसंद पर आधारित स्पा की रसोई का विशेष मीनू होता है।

3. Dental spa में स्पा की सुविधाओं के साथ-साथ एक लाइसेंस युक्त डेन्टिस्ट की देखरेख में आपके दाँतों का पारम्परिक उपचार किया जाता है।

4. Day spa के अन्तर्गत ग्राहक को प्रतिदिन के अनुसार अनेकों प्रकार की स्पा सुविधाएं दी जाती हैं जो कि पूरी तरह व्यावसायिक स्टाफ़ के नियंत्रण में होती हैं।

5. Destination spa का सबसे पहला और मुख्य उद्देश्य स्पा सैलून में आने वालों को स्वास्थ्यवर्धक आदतें अपनाने के लिए प्रोत्साहित करना है। यहां ऐतिहासिक सात दिनों तक रहने के दौरान आपकी जीवन पद्घति को पूरी तरह रूपांतर करने के लिए एक विस्तृत प्रोग्राम बनाया जाता है जिसके अन्तर्गत स्पा सुविधाएं, शारीरिक स्वस्थता यु्क्त  क्रियाएं, स्वास्थ्य से सम्बन्धित योग्य शिक्षाएं और आपके रुझान के अनुसार विशेष सहूलतें दी जाती हैं।

6. Medical spa एक ऐसी सुविधा है जो कि लाइसेंस युक्त स्वास्थ्य की देखरेख से सम्बन्धित प्रोफैशनल के निरीक्षण अधीन हर समय बिल्कुल नज़रों के सामने उपलब्ध कराई जाती है जिसका मुख्य उद्देश्य स्पा सुविधाओं के साथ-साथ विस्तृत मेडिकल सुविधाएं देना भी होता है। इसमें स्पा सुविधाओं के साथ-साथ पारम्परिक या इसी प्रकार की अन्य थैरेपी या उपचार भी उपलब्ध होते हैं। इस सुविधा के अन्तर्गत स्टाफ़ को पूरी तरह से तैयार किया जाता है कि सौंदर्य/सिंगार प्रसाधन और अरोग्यता/स्वास्थ्य दोनों प्रकार के उपचार एवं सेवाएं उपलब्ध कराई जाएं।

7. Mineral springs spa में प्राकृतिक खनिजों और थर्मल पानी या समुन्द्र के पानी का प्रयोग करके हाइड्रोथैरेपी ट्रीटमेंट्स की जाती हैं।

8. Resort or hotel spa के अन्तर्गत किसी रिज़ॉर्ट या होटल में ही स्पा सुविधाएं उपलब्ध कराई जाती हैं जिसका उद्देश्य स्पा की सभी सुविधाओं के साथ ही अच्छा स्वास्थ्य और फिटनेस प्रदान करना और स्पा की रसोई के मीनू से आपकी पंसद के व्यंजन उपलब्ध कराना है।

History of bath in spa

10d

स्पा मुख्यत: पानी के साथ ट्रीटमेंट से सम्बन्धित है जोकि बैलनियोथैरेपी के नाम से भी जाना जाता है। स्पा टाउन और स्पा रिसॉर्ट ऐसी ट्रीटमेंट उपलब्ध कराते हैं। इसके नाम के ऊपर कई किंवदंतियां हैं जैसे कि बैल्ज़ियम में एक झरना है जो कि स्पा के नाम से विख्यात है। बहुत सारे लोगों का मानना है कि किसी झरने, कुँए या नदी के पानी के साथ नहाने से शारीरिक और आत्मिक शुद्घि होती है। इस प्रकार नहाने का कुछ वर्णन ग्रीस में भी मिलता है। ग्रीस के लोगों ने नहाने के कुछ नियम शुरू किए जो कि आधुनिक स्पा के निर्माण के लिए काफ़ी हद तक उत्तरदायी बने। इन लोगों ने नहाने के छोटे-छोटे टब, वाशबेसिन और फुट बाथ्स् काे व्यक्तिगत सफ़ाई के लिए प्रयोग किया। उन्होंने अपने व्यायामशालाओं में आराम और स्वास्थ्य की दृष्टि से सार्वजनिक नहाने का और फ़व्वारों का प्रबंध किया। उनकी मान्यता है कि ऐसे प्राकृतिक झरने या तालाब भगवान् के आशीर्वाद से युक्त होते हैं और किसी भी बीमारी को ठीक करने में सक्षम होते हैं। रोम में नहाने को बतौर एक कला बढ़ावा दिया है और उनके स्नानघर ही इस क्षेत्र में हुई उन्नति के प्रतिबिंब हैं पर रोमन साम्राज्य के पतन के साथ ही ये स्नानघर अनैतिक व्यवहार का अड्डा बन गए। यह काल इस तरह के स्नानों के पतन का समय माना जाता है फिर कुछ समय बाद लोगों ने बीमारियों के उपचार के तौर पर धार्मिक मान्यता रखते हुए कुछेक गरम और ठंडे पानी के झरने ढूँढने शुरू किए। 1326 में एक लोहे का काम करने वाले एक व्यक्ति ने बैल्ज़ियम में स्पा के झरने खोजे इन झरनों के पास एक बहुत ही प्रसिद्घ स्वास्थ्यवर्धक रिज़ॉर्ट बना। इसके बाद सभी स्पा रिज़ॉर्ट ऐसे स्थानों पर बनने लगे जिनके नज़दीक झरने हों। 17वीं शताब्दी में अधिकतर उच्च वर्गीय यूरोपियन अपने कपड़े और केवल अपने मुँह ही पानी से धोते थे। उनका मानना था कि पूरे शरीर को नहलाना निम्न वर्ग के लोगों का काम है पर धीरे-धीरे उनका नहाने के प्रति इस प्रकार का नज़रिया अपने आप बदलने लगा। नहाने से सम्बन्धित सामाजिक गतिविधियों में नाच, ताश खेलना और भाषण आदि भी शामिल हो गए। 18वीं शताब्दी के दौरान इटली, जर्मनी और इग्लैंड के डॉक्टरों में झरने के पानी का प्रयोग चिकित्सा के तौर पर करने की चेतना उत्पन्न हुई। इस चेतना ने एक स्पा ट्रीटमेंट को लेने के ढंग में बदलाव ला दिया। 19वीं शताब्दी में नहाना एक बहुत ही आवश्यक प्रक्रिया बन गई जिसे कि डॉक्टरों ने भी माना। पर 1845 में बोस्टन में एक डॉक्टर के कड़े आदेशों के चलते इस पर पाबन्दियां भी लग गईं पर कुछ समय बाद हालात में सुधार आ गया और 1867 में फिलाडेल्फिया के अधिकतर घरों में नहाने के टब लगाए गए। 19वीं शताब्दी के मध्य में हालात में नाटकीय परिवर्तन आया। यूरोप में स्पा में आने वाले यात्रियों ने पानी को पीने की जगह नहाने पर ज़ोर दिया। धीरे-धीरे नहाने की प्रक्रिया में गरम फ़व्वारों ने भी स्थान ले लिया। नहाने वाले को पहले 140 डिग्री तापमान पर गरम हवा वाले कमरे में 20 मिन्ट के लिए रहना पड़ता था, उसके बाद 10 मिन्ट 150 डिग्री तापमान वाले कमरे में रहना पड़ता था, फिर 154 डिग्री पर भाप युक्त स्नान करना होता था और उसके बाद फ़व्वारे के नीचे स्नान करके एक साबुन की मसाज दी जाती थी। मसाज के बाद अपने शरीर के तापमान के मुताबिक तालाब में तैरना होता था। इसके बाद 15-20 मिनट के लिए आराम करना होता था। यूरोपियन स्पा अपने अतिथियों को स्नान के बाद बहुत सारी सुविधाएं उपलब्ध करवाते थे जिनमें कि15 1 जुआ खेलना, घुड़ दौड़, मछली पकड़ना, शिकार खेलना, टैनिस, स्केटिंग, नाच, गोल्फ़ और घुड़सवारी आदि होते थे। कुछ यूरोपियन सरकारों ने स्पा थैरेपी के चिकित्सा से सम्बन्धित लाभों को देखते हुए इस क्षेत्र में मरीज़ाें के लिए कुछ पैसा भी लगाया। डॉक्टरों ने गरम झरनों द्वारा बीमारियों के इलाज के लिए सलाह देनी शुरू कर दी। ॥

Hair

सुन्दर व स्वस्थ बाल स्वयं ही अपनी खूबसूरती ब्यान करते हैं। स्पा हेयर सैलून्ज़ में आपके बालों को कुछ ऐसी ही खूबसूरती देने के लिए ख़ास प्रबन्ध होते हैं। चाहे किसी प्रकार की कटिंग करनी हो या बालों को कोई नया रंग देना हो। वो वही करेंगे जो आपके व्यक्तित्व व स्टाइल को सूट करे और उस स्टाइल और चमक को बरकरार रखने के लिए वहां एक से बढ़कर एक हेयर प्रोडक्ट्स होते हैं।

Massage

स्पा सैलून में की गई मसाजें आपकी त्वचा को दोबारा मुलायम बनाकर रक्त संचार को संतुलित करती हैं और मांसपेशियों में होने वाले दर्द को भी ठीक करती हैं जैसे ही आप मसाज थैरेपिस्ट से मसाज करवानी शुरू करेंगी आप शांति प्रदत्त या आनंद प्रदान करने वाले स्पर्श का स्वयं कुछ अलग व अद्वितीय अनुभव करेंगी। आप महसूस करेंगी कि यह जीवन भर का एक अद्भुत ऐश्वर्ययुक्त तजुर्बा है पर एक बात जो ध्यान देने योग्य है वह कि स्पा सैलून में औरत को उसकी प्रैग्नेंसी के पहले चरण के दौरान किसी प्रकार की मसाज नहीं की जाती। सभी सैलून में व्यक्तिगत तौर पर अलग-अलग प्रकार की मसाज होती है। जैसे-

1. Classical massage:-  इस मसाज को करने में 50 मिनट का समय लगता है। यह स्वीडन की एक पुरातन विधि है। उनकी सर्वोत्तम मसाज में योग्य थैरापिस्ट का काम मसाज द्वारा आपकी थकी हुई मांसपेशियों को आराम पहुँचाना और आपके रक्त में ऑक्सीजन के प्रवाह को बढ़ाना होता है। इसके बाद आपका चित्त शांत होता है और आप बेहद शांतमय एवं आरामदायक स्थिति में स्वयं को अनुभव करते हैं।

2. Red door signature massage:-  इस मसाज के दौरान आपकी विशेष आवश्यकताओं को ध्यान में रखते हुए कई विशेष प्रकार के एसेंस के मिश्रण शिया बटर और एक्यूप्रेशर का प्रयोग किया जाता है। इसमें प्रयोग होने वाले गुनगुने तौलिए व ख़ास किस्म के तकियों ने इसे काफ़ी प्रसिद्घ, संपूर्ण और आरामदायक मसाज व सभी की पहली पसंद बना दिया है।

3. Abhayanga massage:- 50 मिनट की अभयंगा मसाज में अपने दु:ख-दर्द व चिन्ताओं को पीछे छोड़े आप आयातित धार्मिक ट्रीटमेंट का आनंद लेंगे जोकि भारत के जीवन ज्ञान के दर्शन से पनपी है। विशेष प्रकार के हर्बल ऑयल से बेहद कोमल और लयबद्घ तरीक़े से मसाज करते हुए आपकी नसों को असीम शांति प्रदान की जाती है। आपके थके सुस्त हुए शरीर को स्वास्थ्य और आराम मिलता है। इसके साथ-साथ आपके दिमाग़ व शरीर को आन्तरिक शांति मिलती है।

4. Deep tissue massage:- शरीर पर लगी चोटों के निवारण और मांसपेशियों पर आए दबाव को ठीक करने में काफ़ी लाभप्रद है। प्रशिक्षित थैरेपिस्ट द्वारा मांसपेशियों के तंतुओं को तंदरुस्त करने के लिए बेहद धीमी गति से उन पर ध्यानपूर्वक गहरा दबाव दिया जाता है। जोड़ों और मांसपेशियों को स्वस्थता प्रदान करने के लिए और आराम की स्थिति में लाने के लिए प्रचलित विधियों द्वारा बेहद कोमल तरीक़े से विशेष प्वाइंटस् पर दबाव देते हुए मसाज की जाती है। शारीरिक दुर्बलता से उबरने के लिए यह काफ़ी उत्तम सिद्घ होती है। हल्की-हल्की मसाज से शरीर को काफ़ी राहत मिलती है और आनंद व शांति की अनुभूति होती है।

5. Reflexology Foot Treatment:- को 25 मिनट का समय लगता है। रीफ़्लैक्सऑलोजी फुट ट्रीटमेंट इस धारणा पर आधारित है कि हमारे शरीर के सभी अंग पैरों के एक प्रतिक्रियात्मक प्वाइंट के अनुरूप होते हैं। इस मसाज द्वारा शरीर की रुकावटों और रक्त संचार को ठीक करने के लिए एवं शरीर में दुबारा स्फूर्ति पैदा करने में सहायता मिलती है। यह शरीर को सभी चिंताओं व दर्दों से मुक्त कर उसे आराम व आनंद की स्थिति में लाती है। इस प्रकार इस मसाज को किसी फेशियल उपचार या 25 मिन्ट की एक्सप्रेस मसाज के साथ करना महत्वपूर्ण रहेगा।

10b6. Pregnancy Massage:- स्पा सैलून्ज़ में गर्भवती महिलाओं की विशेष ज़रूरतों के अनुसार एक प्रैग्नेंसी मसाज भी प्रचलित है। इस तकनीक में शरीर को तकिये की सहायता देते हुए थैरेपिस्ट द्वारा बहुत सावधानीपूर्वक भार सहन करने वाले जोड़ों के होने वाले दर्दों व खिंचावों से राहत पहुँचाई जाती है। इसी के साथ पीठ एवं गर्दन दर्द का भी निवारण होता है। इससे चित्त शांत और शरीर स्वस्थ होता है पर यहां एक बात जो ध्यान देने योग्य है कि वहां स्त्री की प्रैग्नेंसी के पहले चरण के दौरान मसाज नहीं की जाती।

7. Thai Yoga Bodywork Massage:-इस मसाज में प्रशिक्षित थैरेपिस्ट की मदद से शरीर, दिमाग़ व प्राणों को स्फूर्ति दी जा सकती है और एक किस्म का संतुलन निर्मित किया जाता है। यह पूरी तरह कपड़े पहने हुए की जाती है। यह जादुई मसाज शरीर को अत्यधिक आराम पहुँचाते हुए उसमें पुन: प्राण डालने के बराबर है।

8. Desert hot stone massage:- यह गर्म स्टोन थैरेपी और पारम्परिक स्वीडिश मसाज को मिला कर बनाया गया उपचार है जिसका चलन सबसे पहले अमेरिका में शुरू हुआ जो कि रक्त संचार की अनियमितता और जोड़ों की सूजन के दर्द से राहत दिलाने में काफ़ी सहायक होती है। बहुत ही मुलायम और गर्म स्टोन को जब त्वचा पर सरकाया जाता है तो यह त्वचा को गर्मी प्रदान कर बहुत ही आराम पहुँचाती है। यह आरामदायक स्वप्न लोक का आनंद उपलब्ध कराती है ।

Oils For Massage

स्पा सैलून में मसाज के लिए प्रयोग होने वाले तेल भी विशेष गुणवत्ता धारण किए होते हैं जैसे बरगामोट नामक तेल शरीर में स्फूर्ति बढ़ाने के साथ-साथ तनाव को भी कम करता है। यह तेल बुख़ार और फ्लू को ठीक करने के लिए भी प्रयोग होता है। चंदन की लकड़ी से बना तेल शरीर में मज़बूती लाता है और ऑक्सीजन व रक्त का संचार ठीक रखता है। फरंगी पानी नामक तेल मसाज के दौरान शरीर को आराम पहुँचाता है और मन में एकाग्रता लाता है और त्वचा व मांसपेशिओं को आराम पहुँचाता है। लोटस तेल शरीर को ताज़गी, आराम व शान्ति प्रदान करता है। मस्क तेल शरीर को मुलायम करता है और साथ ही साथ तनाव को कम कर एकाग्रता को तेज़ करता है। पेपरमिंट नामक तेल जहां एक ओर हमें अलग सी सुखदायी स्थिति की अनुभूति करवाता है। वहीं हमें काम करने के लिए शक्ति व स्फूर्ति देता है और शरीर की थकावट को भी दूर करता है। लैवेन्डर नामक तेल बेहद शांति देता है, सिर दर्द से राहत दिलाता है और जली हुई त्वचा व चोटों के निशानों को हल्का करता है। गुलाब जहां वातावरण को रोमैंटिक करता है वहीं आराम भी पहुँचाता है। ग्रीन टी हमारे दिमाग़ को ताज़गी देने के साथ-साथ थकावट को भी दूर करती है। फ्लू का निवारण होता है और एक संतुलित मन एवं शरीर बनता है।

ब्यूटी ट्रीटमेंट के अंतर्गत स्पा सैलून में होने नाली थ्रैंडिग और वैक्सिंग भी आती हैं ।

Threading

थ्रैडिंग का आरम्भ मध्यकाल में भारत में ही हुआ। थ्रैडिंग का प्रयोग पूरे चेहरे पर हो सकता है। यह एक बेहतर एवं बहुत ही पेचीदा कला है जिसके अंतर्गत सूती धागे के द्वारा चेहरे के बालों को उनकी जड़ों से निकाला जा सकता है। यह एक बहुत ही आसान और सस्ता ढंग है बाल निकालने का। थ्रैडिंग करवाने के बाद बाल जल्दी नहीं आते और पहले की अपेक्षा पतले भी होते हैं। थ्रैडिंग आप अपने चुने हुए स्थान पर उपलब्ध करवा सकते हैं।

Wax

वैक्सिंग न-न  बिल्कुल भी कष्टदायक अहसास की कल्पना न करें। यहां की विशेष रूप से तैयार की जादुई असर वाली वैक्स दर्द रहित उपचार देती है। स्पा सैलून में बहुत ही सहजतापूर्वक वैक्स की जाती है। चाहे वो फेस की वैक्स् हो या पूरे शरीर की। स्पा द्वारा की गई वैक्स बेहद आरामदायक होती है। इससे शरीर पर किसी प्रकार का निशान अथवा धब्बा नहीं पड़ेगा। इससे शरीर जहां बालों से मुक्त होगा वहीं दूसरी ओर अत्यधिक मुलायम भी हो जाएगा। यह वैक्‍स बेहद अद्भुत, बेहद प्रभावशाली है। इसका अंदाज़ा आप अपनी बाल रहित कोमल त्वचा का अहसास करने के बाद ही करेंगे।

Facials

10 a

स्पा सैलून में फेशियल करवाते समय कुशल हाथों के कोमल स्पर्श की अनुभूति के पलों में आप केवल अच्छा अनुभव ही नहीं करते बल्कि इसके इलावा और भी ढेरों लाभ उठाते हैं। यहां के फेशियल से एक ओर जहां आपकी रूखी व बेजान त्वचा सुधरेगी, रक्त संचार ठीक होगा और मांसपेशियों में खिंचाव आएगा, वहीं दूसरी ओर आप साफ़ व स्वस्थ और शानदार आभायुक्त त्वचा की भी मालिक होंगी। स्पा में होने वाले कुछ विशेष फेशियल निम्नलिखित हैं ।

1. Elizabeth Arden Essential facial के लिए 50 मिनट का समय लगता है। इसके अंतर्गत आपकी त्वचा के अनुसार प्रोडक्ट्स का प्रयोग करके आपकी त्वचा की गहराई से सफ़ाई करते हुए उसे एक अलग सी ताज़गी पहुँचाई जाती है। इसके बाद आप स्वयं को तंदरुस्त, ताज़ा  और आनंदित महसूस करेंगे।

2. Red door Signature facial with Prevage:- इस फेशियल को करने के लिए 50 मिनट का समय लगता है। यह ऐसा फेशियल है जिसके लिए हमारी प्रसिद्घी है। इस फेशियल में आपकी त्वचा की ज़रूरत के अनुसार प्रोडक्ट और विधियां प्रयोग की जाती हैं, फिर आपके रोम छिद्रों की गहराई से सफ़ाई की जाती है ताकि बेजान त्वचा को हटाया जा सके। इसके बाद मास्क लगाया जाता है। एक्यूप्रेशर फेशियल मसाज द्वारा आपकी त्वचा में कसावट लाई जाती है। इस फेशियल द्वारा बढ़ती उम्र वालों की त्वचा में सुधार कर उम्र के प्रभावों को दूर करने के लिए उपचार होता है।

3. Ultimate Arden facial को 80 मिनट का समय लगता है। अपनी नवीनता और गुणों के कारण इसके समान कोई अन्य फेशियल नहीं है क्योंकि इसमें अर्डन के अधिमूल्य त्वचा के रख-रखाव के उत्पादों का प्रयोग होता है। क्लीन्ज़िंग और टोनिंग के बाद गरम स्टोन के साथ ऊपरी शरीर की मसाज हाथों को नरम बनाने के लिए उपचार और एक बहुत ही ताज़गी प्रदान करने वाली स्टोन फेशियल मसाज की जाती है। इसके बाद आँखों को आराम व ठंडक देने के लिए उपचार किए जाते हैं। चेहरे पर मास्क लगाया जाता है बेहद आरामदायक सिर की मसाज, होंठों व माथे की वैक्स बेहतर परिणाम के साथ-साथ अनुपम स्पर्श का अहसास कराते हैं। दोष रहित मेकअॅप इस स्पा अनुभव को और भी अनूठा बना देता है।

4. Esolution Clarify Facial को 50 मिनट लगते हैं। इसमें उत्तम परिणाम देने वाले प्रोडक्ट्स का प्रयोग होता है जिनमें त्वचा को किसी प्रकार के नुक़सान का अंदेशा नहीं रहता। झाईयों को दूर करने के लिए व अन्य त्वचा की कमियों को दूर करने के लिए बहुत ही कोमल व प्रभावशाली ट्रीटमेंट किया जाता है। ये त्वचा की स्वस्थता और सफ़ाई को बरकरार रखने में बहुत मददगार सिद्घ होता है। यह आपकी त्वचा में खूबसूरत निखार लाता है।

5. Customized Phyto Organic Facial को 65 मिनट लगते हैं। इसमें इटली के पौधों से बने अर्क का प्रयोग होता है जोकि बढ़ती उम्र के प्रभावों को दूर करने के लिए हमारी स्पा में विशिष्टता धारण किए हुए है। इसके अन्तर्गत त्वचा का हर प्रकार का उपचार किया जाता है। इन स्वस्थता प्रदान करने वाले उत्पादों को पूरी तरह अपने अंदर ग्रहण करने के लिए और गहराई से सफ़ाई के लिए ठण्डक प्रदान करने वाले विटामिन-सी युक्त मास्क का प्रयोग किया जाता है फिर आपकी निखरी और शानदार लुक को और उज्ज्वल करने के लिए आँखों की रूपरेखा को भी बेहतर बनाया जाता है।

6. Ceramide Anti-Aging Facial को लगभग 65 मिनट लगते हैं। यह फेशियल आपकी त्वचा को स्थायी मज़बूती और ताकत प्रदान करने में सहायता करता है तथा आयु के साथ-साथ त्वचा के किसी भी प्रकार के हुए नुक़सान की मुरम्मत करता है। गहराई तक त्वचा को साफ़ करते हुए यह एक बहुत ही बढिय़ा और बहुत ही मुलायम सा अहसास छोड़ जाता है।

7. Ardena Four Layer Facial को 65 मिनट का समय लगता है। यह खनिज युक्त चार परतों वाला मास्क समुन्दर से प्राप्त तत्त्वों से बनाया जाता है। इसमें समुंद्री पौधों से बने सिरम, हाइड्रेटिंग क्रीम, समुंद्री पौधों से बने मास्क और खनिजों से युक्त गरम मास्क का प्रयोग त्वचा को भरपूर नमी और कोमलता प्रदान करने के लिए किया जाता है। विशेष प्रकार की सहूलतें देते हुए इसमें आपकी आँखों के भाग की टोनिंग भी की जाती है पर यह ट्रीटमेंट उनको नहीं दी जाती जिन्हें सीप वाली मछली से एलर्जी हो या जो किसी बन्द स्थान पर रहने से घबराता हो।

8. Express Facial:- इस फेशियल को 25 मिनट का समय लगता है। यह फेशियल आपके क़ीमती समय की क़दर करते हुए विशेष तौर पर निर्मित किया गया है। लगातार लेने वाले संपूर्ण फेशियल के बीच के दिनों में आपकी रंगत को तरोताज़ा रखने के लिए यह कम समय का फेशियल उपलब्ध कराया जाता है।

10971386316_c12d0072d4_o (1)Manicures

स्पा सैलून्ज़ में आपके हाथों को सुन्दर व सुकोमल बनाने के लिए कई प्रकार के मैनीक्योर होते हैं पर यह आम ब्यूटीपार्लर से हटकर होते हैं क्योंकि त्वचा और आपकी रुचि के अनुसार अलग-अलग प्रकार का ट्रीटमेंट उपलब्ध होता है। प्रत्येक सैलून के अपनी-अपनी तरह के मैनीक्योर होते हैं जिनमें से कुछ का वर्णन निम्नलिखित है।

1. Mandarin Honey Manicure:- इसके लिए लगभग 40 मिनट लगते हैं। सर्दी से शुष्क हुई आपकी त्वचा को भरपूर पोषण देने के लिए मैन्डरिन के एसेंस, शहद, बादाम, नींबू व गन्ने के रस का प्रयोग किया जाता है। आपके हाथों की शुष्कता हटा नमी प्रदान करने के लिए शहद व चीनी के स्क्रॅब का प्रयोग किया जाता है। लेकिन यह मौसमी है यह हर मौसम में उपलब्ध नहीं होता। यह बसंत ऋतु में उपलब्ध होता है।

2. Warm Cream Manicure:- इसके लिए लगभग 25 मिनट लगते हैं। नाखुनों की अच्छी तरह शेप बनाने के बाद स्वास्थ्यवर्धक बेहद शानदार क्रीम को गुनगुना कर हाथों और बाजुओं की मसाज की जाती है। इसके बाद नाखुनों पर कोई भी अच्छे ब्रांड की नेल पॉलिश लगाई जाती है।

3. Red door signature Manicure:- रूखे व शुष्क हाथों को मुलायम बनाने के लिए 40 मिनट का रैड डोर सिग्नेचर मैनीक्योर किया जाता है। इसमें क्रीम व चीनी का प्रयोग किया जाता है और आपके हाथों की त्वचा को नमी देने के लिए उन्हें गुनगुने पैराफिन में कुछ देर रखा जाता है। फिर बाद में नेल पॉलिश लगाई जाती है।

4. Citra Spa Manicure:- इस मैनीक्योर को लगभग 35 मिनट का समय लगता है। इस मेनीक्योर को इसमें प्रयोग होने वाले स्वास्थ्यवर्धक विटामिनों से भरपूर तेल और इसकी खुशबू के लिए पसन्द किया जाता है। इसमें हाथों को कोमल और मुलायम बनाने वाली मसाज के लिए स्वस्थता प्रदान करने वाले विटामिनों के साथ ही मॉइस्चराइज़र भी उपलब्ध होते हैं।

1337220300_21f34595f6_b5. Lighten-Up Manicure:- इस मैनीक्योर को लगभग 35 मिनट का समय लगता है। इसके लिए प्रयोग होने वाले बढ़िया प्रकार के मैन्डरिन स्क्रॅब, क्ले मास्क और उत्तम विटामिन के मॉइस्चराइज़र का प्रयोग मुख्यत: आयु दिखाने वाली रेखाओं या दाग़ाें को कम करने के लिए प्रयोग किया जाता है। इससे जहां आपके हाथ जवान दिखेंगे वहीं उन्हें सुकोमलता भी मिलेगी। यह हाथों पर नज़र आने वाले ह्ल्के से हल्के दाेषाें को भी दूर करेगा।

6. Sport Manicure:- इस मैनीक्योर को लगभग 25 मिनट का समय लगता है। नाखुनों व नाखुनों की उपरी त्वचा की अच्छी प्रकार से शेप बनाने के बाद क्रीम से हाथों और बाजुओं की मसाज की जाती है। इसके लिए विशेष प्रकार की क्रीम का प्रयोग किया जाता है जो कि बहुत ही क़ीमती और उत्तम किस्म की होती है और त्वचा को स्वस्थता प्रदान करती है।

Pedicure

पैडीक्योर पैरों की बेजान त्वचा व फटी हुई एड़ियों में दोबारा जान लाता है। प्रत्येक छोटे व बड़े स्पा सैलून में कई अलग-अलग ढंगों से पैडीक्योर किया जाता है । इनमें से कुछ विशेष प्रकार के पैडीक्योर निम्नलिखित हैं ।

1. Mandarin Honey Pedicure:- इसको लगभग 40 मिनट का समय लगता है। सर्दी के कारण शुष्क हुई त्वचा को पुन: पोषण देने के लिए मैन्डरिन हनी पैडीक्योर किया जाता है। इसके लिए सामान्यत: मैनडरिन के एसेंस, शहद, बादाम, नींबू व गन्ने के रस का प्रयोग किया जाता है। मैन्डरिन हनी शूगर स्क्रॅब से आपके पैरों को गहराई से साफ़ किया जाता है और विशेष तौर पर उपरलिखित वस्तुओं से तैयार लोशन से मसाज की जाती है। इसके अलावा पैरों को ताज़गी देने के लिए फुट मास्क का भी प्रयोग किया जाता है। यह पैडीक्योर आपकी त्वचा को वो सब उपलब्ध कराता है जिसकी उसे वास्तव में आवश्यकता होती है लेकिन यह मौसमी है हर मौसम में उपलब्ध नहीं होता।

2. Warm Cream Pedicure:- इसमें पैरों के साथ ही टाँगों की भी क्रीम के साथ मसाज की जाती है। इससे आप स्वयं आन्तरिक व बाहरी ताज़गी और स्वस्थता अनुभव करेंगे। इसमें पैरों के नाखुनों की ऊपरी त्वचा व नाखुनों की शेप बना नेल पॉलिश लगाई जाती है। इससे जहां पैर स्वस्थ और सुन्दर बनते हैं वहीं आप आराम का भी अनुभव करते हैं

3. Red Door Signature Pedicure:- अच्छी तरह पैर गीले करने के बाद क्रीम और चीनी के स्क्रॅब के साथ रूखी और बेजान त्वचा को हटाया जाता है। पैरों और टाँगों की क्रीम से मसाज की जाती है। आपके पैरों को संपूर्ण नमी प्रदान करने के लिए गुनगुने पैराफिन में पूरी तरह डुबोया जाता है और फिर बेहद खूबसूरत नेल पॉलिश से पैरों की सुन्दरता को और बढ़ाया जाता है।

4. Healing Pedicure:- पैरों की त्वचा को कोमलता प्रदान करने के लिए फुट मास्क और मॉइस्चराइज़िंग क्रीम का प्रयोग किया जाता है। इसके लिए सर्वश्रेष्‍ठ उत्पादों का प्रयोग होता है। यह पैडीक्योर खूबसूरती और स्वस्थता दोनों में ही संपूर्णता प्रदान करता है। पैरों और टाँगों की मसाज की जाती है जिससे कि आप बेहद अच्छा महसूस करते हैं।

5. Olive Oil Pedicure:- इस पैडीक्योर में टाँगों व पैरों की मसाज ऑलिव ऑयल युक्त क्रीम से की जाती है। बाद में प्रयोग हाेने वाली सैटिन स्प्रे, मास्क व जैल आपके पैरों की त्वचा को मुलायम व चमकदार बना देगी।

6. Express pedicure:– जब आपके पास समय की कमी हो और आप पूरा पैडीक्योर नहीं भी करवा सकते तो पैरों की कम समय में देखभाल करने के लिए यह पैडीक्योर काफ़ी लाभदायक होता है। इसमें आपके पैरों को ठंडक भरी ताज़1460493999_4e2fba7391_bगी देने के लिए पेपरमिंट का प्रयोग किया जाता है। अाखिर में आपके पाँव के पंजों को भाप दी जाती है और नेल पॉलिश लगाकर पांवों की खूबसूरती बढ़ाई जाती है।

7. Sport pedicure:- इसमें पैरों व टाँगों की क्रीम से मसाज की जाती है और फिर नाखुनों की उपत्वचा व नाखुनों की शेप बनाई जाती है। जहां यह त्वचा को बाहरी मज़बूती देता है, वहीं अन्दरूनी तौर पर भी संपूर्ण स्वस्थता प्रदान करता है।

स्पा के सैलून में एक खूबसूरत दिन बिताने के बाद आप अपने शरीर के बारे में काफ़ी जानकारी प्राप्त करेंगे । आपको अपने शरीर पर बाद में प्रयोग में लाने के लिए बहुत कुछ सीखने को मिलेगा । वहां के आरामदायक व खुशनुमा माहौल के कारण आप वहां जाए बिना न रह पायेंगे । वहां जाकर आप स्वयं अपने आप में एक हलकापन और ताज़गी महसूस करेंगे । इसका प्रत्यक्ष प्रमाण आप वहां जाकर पा सकते हैं।

 

 

 

 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*