कार्यकारी महिलाओं के लिए सुझाव

Karyakari Mahlayon Ke Liye Sujhav File   

-दीपक कुमार गर्ग 

सुबह का समय एक सामान्य घरेलू महिला के लिए काफ़ी व्यस्तता भरा होता है। चाय बनाना, नाश्ता तैयार करना, बच्चों को तैयार करना, उन्हें स्कूल भेजना, पति एवं बच्चों के लिए दोपहर के भोजन का टिफ़िन पैक करना आदि। परंतु वह महिला जो जॉब करती है उनके लिए सुबह के समय की यह भागदौड़ एक किला जीतने से भी ज़्यादा भारी काम होता है। क्योंकि उसे खुद अपनी तैयारी भी करनी होती है। यदि महिलाएं थोड़ी समझदारी से काम लें तो ज़रूरी नहीं है कि उनकी यह भागदौड़ भरी सुबह हमेशा मुश्किल ही नज़र आए। यहां कुछ विशेष सुझाव हैं जो कि कार्यरत महिलाओं की परेशानियों को समझते हुए लिखे गए हैं। यह आसान उपाय के रूप में सामने आ सकते हैं, सिर्फ़ इन्हें अपनाने की ज़रूरत है।

रात को हमेशा समय पर सोने की अपनी आदत बनाएं ताकि दिनभर की थकावट दूर होकर आपकी नींद भी पूरी हो जाए और जब आप सुबह उठें तो अपने आप को ताज़गी भरा महसूस कर सकें।

यदि सुबह आपके घर में दो या तीन बार चाय पी जाती हो तो एक बार में चाय बनाकर फ्लास्क में डालकर रख लें।

तीन व चार बर्तनवाला गैस चूल्हा इस्तेमाल करें ताकि सब्ज़ी, चाय और रोटी इत्यादि एक साथ बन सकें।

यदि संभव हो तो शाम को ही अगले दिन के लिए अाटा गूंधकर, सब्ज़ी काट कर और ज़रूरी तैयारी करके फ्रिज में रख दें।

बच्चों और पति को ऐसी आदत डालें कि वह सुबह-सुबह आपके सामने न अपनी फ़रमाइशें रखें न ही नखरे दिखाएं।

छोटे-मोटे और कम-ज़्यादा काम छुट्टी वाले दिन पूरे करके रखे जाएं। पति एवं बच्चों को भी यह आदत डालें कि वह आपके कामों में आपका हाथ बटाएं साथ ही साथ अपना काम खुद करें।

रात को घड़ी में अलार्म लगाकर सोएं। पति एवं बच्चों को समय पर उठाने की आदत डालें। समय से पांच मिनट भी लेट उठने के कारण आपका पूरा शिड्यूल बिगड़ सकता है।  

अपने पति के कपड़े, जुराबें और रूमाल जो उनको अगले दिन पहनने हैं उसे रात को ही बाहर निकालकर रख दें। अगले दिन पहनने वाले कपड़ों के बटन, टांके वग़ैरह चैक करके ही रखें।

बच्चों की यूनिफ़ार्म, बेल्ट, जुराबें, बाकी सामान रात को ही निकाल कर एक जगह रख दें।

अपने बच्चों को आदत डालें कि वह स्कूल से आकर अपना सामान, ड्रेस इत्यादि को इधर-उधर ना फेंकें ताकि सुबह उन्हें ढूंढ़ने में परेशानी न आए।

बच्चों को होमवर्क करके अपना स्कूल बैग व्यवस्थित रखने की आदत डालें। रात को ही चैक कर लें कि स्कूल बैग में रबर, पैंसिल इत्यादि सारा सामान वग़ैरह है या नहीं।

सुबह आप ने खुद जो ड्रेस पहन कर ऑफ़िस जाना है उसके लिए पहले ही रात को निर्णय करके बाहर निकालकर रख लें।

ऑफ़िस में भारी-भड़कीला मेकअॅप करके जाने की आदत से बचें। क्योंकि ऐसा मेकअॅप भी समय की बर्बादी करता है।

यदि आपके कपड़े धोबी से प्रैस होकर नहीं आते तो रात को ही कपड़े प्रैस करके रख लें।

टी.वी. देखते समय कोई न कोई कार्य करने की आदत बनाएं।

किसी भी छुट्टी वाले दिन आप अपने बच्चों एवं पति की फ़रमाइश पूरी कर सकती हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*