गर्मियों में रहे त्वचा निखरी-निखरी

-सोनी मलहोत्रा

गर्मी की शुरूआत हुई नहीं कि त्वचा खिंची-खिंची, मुरझाई हुई नज़र आने लगती है और जब शुरूआत में ही त्वचा इतनी प्रभावित होती है तो बाद में तो त्वचा पर गर्मी के प्रभाव का अनुमान लगाया ही जा सकता है। सूर्य की झूलसती धूप त्वचा को झुलसा देती है और सन बर्न, सन टैन हो जाना एक आम बात है। यही नहीं, सूर्य की यू. वी. ए. और यू. वी. बी. किरणों से त्वचा कैंसर भी हो सकता है। यही किरणें बढ़ती उम्र की रेखाओं को भी उभारती हैं, इसलिए अपनी त्वचा के प्रति लापरवाही न बरत कर थोड़ा-सा समय त्वचा की देखभाल के लिए भी निकालें ताकि आपकी त्वचा आभावान व कोमल रहे-

* सूर्य की यू. वी. ए. और यू. वी. बी. किरणों से रक्षा के लिए सर्दियां हों यां गर्मियां बाहर निकलते वक़्त सनस्क्रीन लगाना न भूलें। सूरज की हानिकारक किरणें गर्मियों में जितनी प्रबल होती हैं, सर्दियों में भी उतनी ही हानिकारक होती हैं। किरणें त्वचा के सहायक तत्वों और कोमलता को नुक़सान पहुंचाती हैं जिससे त्वचा की प्राकृतिक आभा क्षीण पड़ने लगती है और त्वचा असमय ही झुर्रियों का शिकार बन सकती है।

* स्नान के पश्चात् न केवल चेहरे पर बल्कि शरीर के अन्य भागों पर मॉइस्चराइज़र लगाना न भूलें। इससे त्वचा की स्वाभाविक चमक बरक़रार रहेगी व प्राकृतिक नमी बनी रहेगी। त्वचा को रूखेपन से बचाने के लिए पानी खूब पीएं। दिन में कम से कम आठ गिलास पानी अवश्य पीएं।

* चेहरे को साबुन से न साफ़ करें। किसी अच्छे फेसवॉश या प्राकृतिक प्रसाधन दही, बेसन-दूध के मिश्रण या दूध से साफ़ करें। चेहरे को पोंछते समय तौलिए से रगड़ें नहीं बल्कि तौलिए से हल्के हाथों से साफ़ करें। इससे त्वचा पर खिंचाव नहीं आएगा।

* चेहरे की त्वचा के साथ-साथ बांहों, हाथों, गर्दन की त्वचा को अनदेखा न करें क्योंकि ये अंग ज़्यादातर खुले रहते हैं व धूप के संपर्क में आते हैं, इस लिए इन पर नहाने के पश्चात् बॉडी लोशन या मॉइस्चराइज़र लगाएं और सनस्क्रीन का प्रयोग भी अवश्य करें।

* दिन में अगर आप बाहर जा रही हैं तो एक गीला रूमाल अपने साथ रखें। थोड़े-थोड़े समय पश्चात् इससे चेहरा साफ़ करती रहें। इससे चेहरे को ठंडक भी मिलती रहेगी व चेहरे से धूल कण व मैल भी साफ़ होती रहेगी।

* बाहर जाते समय धूप का चश्मा लगा कर व छाता लेकर जाएं।

* गर्मियों में चाय व कॉफी का अधिक सेवन न करें।

* गर्मियों में कभी भी क्रीमी सौंदर्य प्रसाधनों का प्रयोग न करें क्योंकि ये आपकी त्वचा को और चिपचिपा बनाते हैं।

* गर्मियों में पसीने से बचाव के लिए डिओडरेंट का प्रयोग करें। इससे आप फ्रेश महसूस करेंगी।

* त्वचा में सही रक्तसंचार, नमी व कसाव बनाए रखने के लिए रात्रि को सोने से पूर्व किसी अच्छी पोषक नॅरिशिंग क्रीम से त्वचा की मालिश करें।

* त्वचा पर बहुत अधिक कृत्रिम सौंदर्य प्रसाधनों का प्रयोग न करें। प्राकृतिक सौंदर्य प्रसाधनों का प्रयोग त्वचा पर कोई बुरा प्रभाव नहीं डालता।

* संतुलित आहार का सेवन करें। हरी सब्ज़ियां, जूस, दालों, फलों का अधिक सेवन करें ताकि ये त्वचा को आंतरिक पोषण दें।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*