गुलाब की पंखुडी से होंठ

यूं तो होंठों की बनावट नैसर्गिक होती है लेकिन होंठों को यूं सजाया और संवारा जा सकता है कि यह सराहे जाएं। नारी सौंदर्य में आंखों के बाद रसभरे व मदभरे होंठ ही सबसे ज़्यादा आकर्षण का केन्द्र होते हैं। बहुत से पुरुषों ने माना है कि सबसे पहले स्त्री के होंठों ने ही उन्हें आकर्षित किया। जहां पति पत्नियों के मेकअॅप में बहुत ज़्यादा समय बर्बाद करने की शिकायत करते हैं वहीं ज़्यादातर पुरुष महिलाओं को होंठों पर लिपस्टिक लगाते हुए देखना पसंद करते हैं और होंठों पर सही रंग व उचित ढंग की लिपस्टिक लगाए महिला या युवती उन्हें अपनी ओर आकर्षित करती है।

इनकी देखभाल- होंठों की त्वचा बेहद पतली व नाज़ुक होती है। इसलिए इनकी नियमित रूप से देखभाल की जानी चाहिए। जाड़े के दिनों में प्रायः ठंडी हवा चलने से होंठ फट जाते हैं। इन्हें फटने से बचाने कि लिए सोते समय नींबू, गुलाब जल व ग्लिसरीन का मिश्रण लगाएं।

1. शहद में गाय का शुद्ध घी और गुलाब जल मिलाकर होंठों पर लगाने से होंठ सुन्दर व सुडौल रहते हैं।

2. यदि होंठ बार-बार सूखते हैं तो कभी-कभी मलाई अथवा स्वच्छ दूध को रूई में भिगोकर होंठों पर लगाइए।

3. बहुत सी महिलाओं के होंठों पर झुर्रियां पड़ जाती हैं। अतः इसको दूर करने के लिए मक्खन अथवा ग्लिसरीन को होंठों पर फिराने से होंठों की खुश्की समाप्त हो जाती है।

4. नमक और शहद मिलाकर लगाने से भी इसमें लाभ मिलता है।

5. रात्रि में सोते समय नाभि व नाक में कुछ दिन नियमित रूप से दो बूंद शुद्ध सरसों तेल डालने से भी होंठों का सूखना व फटना बंद हो जाता है।

6. टमाटर के रस में चिकनाई मिलाकर लगाने से भी फटे होंठों की सुरक्षा की जा सकती है।

7. होंठों में चमक लाने के लिए ताज़ी क्रीम में नींबू की कुछ बूंदे मिला कर नियमित लगाएं।

8. कभी-कभी होंठों में कालापन आ जाता है। गुलाब की पत्तियों को पीसकर होंठों पर लगाने से उसकी कालिमा दूर हो जाती है।

9. लाल गुलाब की पत्तियों को मक्खन के साथ मिलाकर होंठों पर लगाने से होंठ काफ़ी मनमोहक बन जाते हैं।

10. मलाई या दही को थोड़ा गुनगुना कर होंठों पर लगाने से होंठ मुलायम रहते हैं।

11. होंठों के काले पड़ गए किनारों पर दूध में नमक मिलाकर लगाएं। कुछ समय बाद साफ़ पानी से धो दें।

12. होंठों के सौंदर्य को बनाए रखने के लिए चाय या कॉफी या धूम्रपान का सेवन कम करें या संभव हो तो बंद कर दें।

लिपस्टिक लगाना- कुछ महिलाएं ज़्यादा मेकअॅप पसंद नहीं करतीं। ऐसी महिलाएं मेकअॅप विहीन चेहरे पर यदि कम से कम होंठों पर हलकी सी लिपस्टिक लगा लें तो उनकी छवि अत्यधिक प्रभावशाली बन जाएगी। होंठों का मेकअॅप ऐसा होना चाहिए कि वे प्राकृतिक शेप में ही रहें। लिपस्टिक को होंठों पर एक मोटी परत के रूप में न चढ़ा कर बल्कि कलात्मक ढंग से रचाएं। अक्सर लिपस्टिक और लिप लाइनर को ही हम होंठों के लिए ज़रूरी समझते हैं पर लिपकिट में एक अच्छा लिप ब्रश, लिप मॉइस्चराइज़िंग बाम, लिप क्रीम और लिपस्टिक इरेज़र ज़रूर होना जाहिए।

होंठों पर सीधे लिपस्टिक लगाने की बजाए लिप पेंसिल से पहले उसकी आउटलाइन बना लें। आउटलाइन बनाने के बाद लिपस्टिक को सीधा ही या ब्रश की सहायता से होंठों के भीतर लगाएं। लिप लाइनर का प्रयोग हमेशा होंठों के बाहरी किनारे से अंदर की ओर करें। इससे दोनों तरफ़ से एकसार और उठी हुई लाइन बनेगी। यदि आपके होंठ अधिक मोटे या पतले हैं तो उनकी शेप में लिप लाइनर से परिवर्तन किया जा सकता है। जैसे मोटे होंठों में लिप लाइनर की आउट लाइन होंठों की प्राकृतिक आउट लाइन के अंदर की ओर लगाएं और होंठ पतला हो तो यही आउटलाइन होंठों की प्राकृतिक आउटलाइन के बाहर की ओर लगाएं। इस तरह आप अपने होंठों को सही आकार दे पाएंगे।

लिपस्टिक ज़्यादा समय तक टिकी रहे इसके लिए एक कोट लगाने के बाद टिश्यू पेपर द्वारा एक्स्ट्रा लिपस्टिक निकाल दें और फिर दूसरा कोट लगाएं। ऊपर से आप हलका-सा पाउडर डस्टिंग भी कर सकती हैं।

रूखे और फटे हुए होंठों पर मैट लिपस्टिक का प्रयोग न करें। इन पर क्रीम लिपस्टिक ही ठीक रहेगी।

सही शेड लिपस्टिक का- आप ने होंठों की देखभाल कर ली। लिपस्टिक लगाने का उचित ढंग भी सीख लिया। परन्तु यदि लिपस्टिक के सही शेड की आप को जानकारी नहीं तो सारी प्रवीणता धरी रह जाएगी। ग़लत शेड की लिपस्टिक का प्रयोग कहीं आपको हंसी का पात्र न बना दे इसलिए इस ओर ध्यान देना भी आवश्यक है।

सबसे पहले आप अपनी त्वचा का रंग देखें। गोरे रंग पर तो सभी शेड अच्छे लगेंगे। सांवले व गेहुएं रंग पर बहुत चटकीले रंग भद्दे लग सकते हैं। इसलिए ऐसी महिलाओं को इनका प्रयोग नहीं करना चाहिए। गेहुएं रंग की त्वचा पर काफ़ी हलके रंग जैसे कॉपर शेड, हलका ब्राउन आदि अच्छे लगेंगे और सांवले पर तो कॉफ़ी शेड आदि ही भाते हैं।

आजकल फ़ैशन में है कपड़ों से मेल खाते हुए शेड लगाना। लेकिन इस बात का ध्यान रखना चाहिए कि वह रंग आपको जच भी रहा है। इसलिए अपने रंग को ध्यान में रखते हुए ही तय करें कि उनमें से किस रंग के वस्त्र के साथ कौन-सा शेड सही लगेगा जैसे सफ़ेद वस्त्रों के साथ हलका ब्राउन, गुलाबी शेड अच्छा लगता है।

इसके बाद समय व स्थान का ध्यान रखना भी आवश्यक है। यदि रात की किसी पार्टी या शादी पर जा रही हैं तो गाढ़ा शेड भी अच्छा लगेगा। परंतु यदि आप ऑफ़िस या कॉलेज जा रही हैं तो हलके व मैट शेड का प्रयोग करना चाहिए क्योंकि गाढ़े व चमक वाले शेड दिन में भद्दे लगते हैं। मैट शेड की लिपस्टिक अधिक उपयुक्त है क्योंकि ये अधिक समय तक होंठों पर टिकी रहती है।

अन्त में सबसे महत्वपूर्ण बात यह है कि रात को सोते समय लिपस्टिक उतारना न भूलें। यदि अधिक समय तक होंठों पर लिपस्टिक लगी रहे तो होंठों की त्वचा को नुक़सान भी हो सकता है क्योंकि यह त्वचा बहुत ही नाज़ुक व संवेदनशील होती है।

लीजिए हो गया आपके होंठों का मेकअॅप। अब कौन इन खूबसूरत आमन्त्रण देते होंठों और उसकी सजीली प्यारी-सी शर्मीली मुस्कुराहट का दीवाना न हो जाए और ये कहे, ‘ये नाज़ुक लब हैं या आपस में दो लिपटी हुई कलियां।’

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*