उम्र के बदलते दौर

बच्चों का संतुलित विकास

मानवविकास के साईन्सदान “एरिकसन” का मत है कि जन्म के उपरान्त शुरू के वर्ष बच्चे में इस जगत् के प्रति विश्वास के रिश्तेे को बनाने के लिए अत्यंत महत्वपूर्ण हैं।

Read More »

स्कूल जाने से क्यों डरते हैं बच्चे

एक दिन, दो दिन आख़िर उसके हर रोज़ के बहानों से तंग आकर उसकी माँ उसे ज़बरदस्ती स्कूल भेजने लगी। सोनू ऐसे क्यों करता है? यह वास्तव में सोचने की बात है।

Read More »

युवाओं में आकर्षण का केन्द्र बनी आधुनिकता

क्या है आधुनिकता? जो युवाओं को आकर्षित करती है। आधुनिकता विभिन्न प्रकारों की होती है जैसे- आधुनिक व्यवहार, आधुनिक विचार, आधुनिक जीवन शैली, आदि।

Read More »

बच्चों के कपड़े कैसे हों?

ख़रीदारी करते समय अक्सर लोग इस बात को अनदेखा कर देते हैं कि क्या ये पोशाकें सुरक्षित हैं भी या नहीं? छोटे बच्चों के लिए तो इस बात पर ध्यान देना बहुत ज़रूरी होता है। छोटे बच्चे अक्सर मुंह में कपड़ा डालते हैं।

Read More »

बचपन यह प्यारा किधर जा रहा है

जागती आंखों में सदैव स्वप्न पला करते हैं। बालपन किसी भी समाज की नींव रहा है आज के दौर का अवलोकन करें तो बुद्धि विस्मित रह जाती है कि यह सब क्या हो रहा है।

Read More »

आवश्यक है सर्दियों में नवजात शिशु की देखभाल

शिशु को ठंड से बचाने का सबसे अनमोल व सरल उपाय है कि उसे खूब हंसाए या रोते हुए को कुछ देर तक चुप न कराएं। इन सब उपायों का प्रयोग करके आप अपने बच्चे को ठंड से बचा सकती हैं व भय मुक्त हो सकती हैं।

Read More »